Avyay Definition: अव्यय परिभाषा
ऐसे शब्द जिन पर लिंग, वचन एवं कारक का कोई प्रभाव नहीं पड़ता तथा लिंग, वचन एवं कारक बदलने पर भी ये ज्यों-के-त्यों बने रहते हैं, ऐसे शब्दों को अव्यय या अविकारी शब्द कहते हैं।
अव्यय शब्दों उदाहरण -जब, तब, अभी, वहाँ, उधर, यहाँ, इधर, कब, क्यों, आह, वाह, ठीक, अरे, और, तथा, एवं, किंतु, परंतु, लेकिन, बल्कि, इसलिए, किसलिए, बिलकुल, अत:, अतएव, अर्थात्, चूँकि, क्योंकि, इत्यादि ।
अव्यय वे शब्द हैं जिनपे लिंग, वचन, पुरुष एवं काल का कोई परिवर्तन नहीं पड़ता।
इन्हें अविकारी (अ + विकार + ई = न परिवर्तित होने वाले) शब्द भी कहा जाता है।

(क) बालक दिनभर पढ़ता है।
(ख) बालिका दिनभर पढ़ती है।
(ग) बालक एवं बालिकाएँ दिनभर पढ़ती हैं।
(घ) बालक एवं बालिकाओं ने दिनभर पढ़ा।
(ङ) बालकों को दिनभर पढ़ने दो।
(च) मैं दिनभर पढ़ता हूँ।
उपर्युक्त वाक्यों में ‘दिनभर’ शब्द अलग-अलग छह वाक्यों में आया है परंतु इस में लिंग, वचन, पुरुष, कारक आदि तत्वों के कारण कोई परिवर्तन नहीं हुआ। अतः ‘दिनभर’ अव्यय या अविकारी शब्द है।

अव्यय के निम्नलिखित कार्य हैं
(1) अव्यय क्रिया का स्थान दिशा, समय, रीति, तुलना, परिमाण, उद्देश्य, सादृश्य इत्यादि का ज्ञान कराते हैं ।
(2) कुछ अव्यय शब्दों, पदबंधो, उपवाक्यों और वाक्यों को आपस में जोड़ने का काम करते हैं
(3) अव्यय शोक, हर्ष, आश्चर्य इत्यादि भावों को व्यक्त करते हैं ।
(4) कुछ अव्यय संबोधन को सूचित करते हैं ।
(5) कुछ अव्यय बल, निषेध, स्वीकार, अवधारणा इत्यादि भी व्यक्ति करते हैं ।
▰▱▰▱▰▱▰▱▰▱▰▱▰▰▱