Post Office की छोटी बचत योजनाओं Small Saving Schemes जैसे PPF, Sukangya Samridhi Yojna के अलावा एक और योजना है मंथली इनकम स्कीम MIS। यह एक सेविंग स्कीम है लेकिन इसमें एक बार पैसा डालने के बाद आपको हर महीने कमाई होती रहती है।
मंथली इनकम स्कीम की बात करें तो इसमें आपको एक बार में रकम जमा करनी है और उसके बाद इससे आपको हर महीने कमाई होती रहेगी। हम आपको बताते हैं इस स्कीम से जुड़ी हर बात।
क्या है MIS स्कीम
यह एक सेविंक स्कीम है जिसमें आपको एक बार निवेश करना है। इस निवेश की रकम कुछ भी हो सकती है। हालांकि, इसमें कम से कम 1000 रुपए जमा किए जा सकते हैं और अधिकतम 4.5 लाख रुपए का निवेश कर सकते हैं। इससे ज्यादा रकम का निवेश करना है तो आप 9 लाख रुपए तक जमा कर सकते हैं लेकिन इसके लिए आपको जॉइंट अकाउंट खोलना होगा। इस योजना का ज्यादा फायदा रिटायर्ड कर्मचारियों और वरिष्ठ नागरिकों को ज्यादा मिलता है। 1 अप्रैल 2020 तक इस स्कीम के तहत सालाना 6.6 प्रतिशत ब्याज दिया जा रहा था।
मिलते हैं इतने फायदे
इस स्कीम का फायदा यह है कि इसमें एक से ज्यादा लोग भी मिलकर खाता खुलवा सकते हैं। साथ ही इससे होने वाली आय को बराबर बांट सकते हैं। इतना ही नहीं इस जॉइंट अकाउंट को कभी भी कन्वर्ट करवाकर सिंगल अकाउंट में करवा सकते हैं। वहीं सिंगल अकाउंट को बढ़ाकर जॉइंट अकाउंट में कन्वर्ट किया जा सकता है।
पैसे निकालने की यह है शर्तें
वैसे तो यह बचत स्कीम है लेकिन इसमें से आप वक्त से पहले भी किसी खास मौके के लिए पैसे निकाल सकते हैं। हालांकि, ऐसे में आपको जो पैसा मिलेगा वो कुछ कटकर मिलेगा। इसलिए कोशिश करें कि आपने जितने वक्त के लिए निवेश किया है वो वक्त पूरा हो। वैसे शर्त के अनुसार आप अकाउंट खुलवाने के एक साल से तीन साल के बीच पैसा निकालते हैं तो जमा रकम का 2 प्रतिशत काटकर आपको लौटाया जाता है वहीं 3 साल बाद और मैच्योरिटी से पहले भी पैसा निकालते हैं तो कुल रकम के 1 प्रतिशत काटकर आपको आपका पैसा दिया जाता है।
इसलिए है खास
इस स्कीम की एक और कास बात यह है कि आप इसे एक पोस्ट ऑफिस से दूसरी पोस्ट ऑफिस में ट्रांसफर कर सकते हैं। साथ ही निवेश के पांच साल पूरे होने पर दोबारा निवेश कर सकते हैं। अकाउंट धारक चाहे तो किसी को नॉमिनी बना सकता है ताकि किसी अनहोनी की स्थिति में उसकी बचत की रकम उसके बाद नॉमिनी को मिल सके। साथ ही इसमें आपको TDS भी नहीं देना होता