1. कौन शरमा रहा है आज यूँ हमें फ़ुर्सत में याद कर के..

चकियाँ आना’ तो चाह रही हैं, पर हिच-किचा रही है…

 

  1. 💕💕कौन कहता है तस्वीरें बात नहीं करतीं हैं,,🤷🏻‍♂

 

हर सवाल का जवाब देती हैं, बस आवाज़ नहीं आती है💕💕

 

  1. ीगी नहीं थी मेरी आँखें कभी वक़्त के मार से..देख तेरी थोड़ी सी बेरुखी ने इन्हें जी भर के रुला दिया।

 

  1. तेरी निगाहों का मुझ पर कैसा असर हो जाता है.

दिल भी  मेरा खुद से बेखबर हो जाता है.

मैं देखता रहता हूं  तुझको

और वक़्त ठहर जाता है.

 

  1. माना कि दो किनारो का कभी संगम नही होता

मगर साथ चलना भी तो मौहब्बत से कम नहीं होता.!

 

  1. तेरे इश्क़ का सज़दा किया है मैंने,,,,,,

तेरी सूरत से नजरें हटाऊँ तो कैसे,,,,,,

 

  1. वो बर्दाश्त करता है शराब की कड़वाहट..

पर मिठास लबों की चखने नहीं आता …

 

  1. अल्फ़ाज़ पढ़ने के लिए  आँखें ज़रूरी है …!!

और

अहसास  पढ़ने के लिए  दिल ज़रूरी है …!!

 

  1. टमाटर सी लाल हो जाती है वो बातो बातो में..

बताओ दोस्तों भाव कैसे न बढ़े उसके..

 

<<– BACK                                                                                         Next ->>