अनेक शब्दों के लिए एक शब्द (One Word )

भाषा की सुदृढ़ता, भावों की गम्भीरता और चुस्त शैली के लिए यह आवश्यक है कि लेखक शब्दों (पदों) के प्रयोग में संयम से काम ले, ताकि वह विस्तृत विचारों या भावों को थोड़े-से-थोड़े शब्दों में व्यक्त कर सके। समास, तद्धित और कृदन्त वाक्यांश या वाक्य एक शब्द या पद के रूप में संक्षिप्त किये जा सकते है। ऐसी हालत में मूल वाक्यांश या वाक्य के शब्दों के अनुसार ही एक शब्द या पद का निर्माण होना चाहिए।

दूसरी बात यह कि वाक्यांश को संक्षेप में सामासिक पद का भी रूप दिया जाता है। कुछ ऐसे लाक्षणिक पद या शब्द भी है, जो अपने में पूरे एक वाक्य या वाक्यांश का अर्थ रखते है। भाषा में कई शब्दों के स्थान पर एक शब्द बोल कर हम भाषा को प्रभावशाली एवं आकर्षक बनाते है।

( अ )

अनुचित बात के लिए आग्रह- (दुराग्रह)

अण्डे से जन्म लेने वाला- (अण्डज)

आकाश को चूमनेवाला- (आकाशचुंबी)

अपने देश से दुसरे देश में समान जाना- (निर्यात)

अपनी हत्या स्वयं करना- (आत्महत्या)

अवसर के अनुसार बदल जाने वाला- (अवसरवादी)

अच्छे चरित्र वाला- (सच्चरित्र)

आज्ञा का पालन करने वाला- (आज्ञाकारी)

अपने देश से दुसरे देश में समान जाना- (निर्यात)

अपनी हत्या स्वयं करना- (आत्महत्या)

अत्यंत सुन्दर स्त्री- (रूपसी)

आकाश को चूमने वाला- (गगनचुंबी)

आकाश में उड़ने वाला- (नभचर)

आलोचना करने वाला- (आलोचक)

आशा से अधिक- (आशातीत)

आगे होनेवाला- (भावी)

आँखों के सामने- (प्रत्यक्ष)

आँखों से परे- (परोक्ष)

अपने परिवार के साथ- (सपरिवार)

आशा से अतीत (अधिक)- (आशातीत)

आकाश या गगन चुमनेवाला- (आकाशचुम्बी, गगनचुम्बी)

आलोचना करनेवाला- (आलोचक)

आलोचना के योग्य- (आलोच्य)

आया हुआ- (आगत)

अवश्य होनेवाला- (अवश्यम्भावी)

अत्यधिक वृष्टि- (अतिवृष्टि)

अपने बल पर निर्भर रहने वाला- (स्वावलम्बी)

अचानक हो जाने वाला- (आकस्मिक)

आदि से अन्त तक- (आद्योपान्त)

आगे का विचार करने वाला- (अग्रसोची)

आढ़त का व्यापर करने वाला- (आढ़तिया)

आवश्यकता से अधिक वर्षा- (अतिवृष्टि)

अधिकार या कब्जे में आया हुआ- (अधिकृत)

अन्य से सम्बन्ध न रखने वाला- (अनन्य)

अभिनय करने योग्य- (अभिनेय)

अभिनय करने वाला पुरुष- (अभिनेता)

अभिनय करने वाली स्त्री- (अभिनेत्री)

अच्छा-बुरा समझने की शक्ति का अभाव- (अविवेक)

अपने हिस्से या अंश के रूप में कुछ देना- (अंशदान)

अनुकरण करने योग्य- (अनुकरणीय)

आत्मा व परमात्मा का द्वैत (अलग-अलग होना) न माननेवाला- (अद्वैतवादी)

अल्प (कम) वेतन भोगनेवाला (पानेवाला)- (अल्पवेतनभोगी)

अध्ययन (पढ़ना) का काम करनेवाला- (अध्येता)

अध्यापन (पढ़ाने) का काम करनेवाला- (अध्यापक)

आग से झुलसा हुआ- (अनलदग्ध)

अपने प्राण आप लेने वाला- (आत्मघाती)

अर्थ या धन से सम्बन्ध रखने वाला- (आर्थिक)

आदि से अन्त तक- (आद्योपान्त)

आशा से अतीत (परे)- (आशातीत)

आयोजन करने वाला व्यक्ति- (आयोजक)

आशुलिपि (शार्ट हैण्ड) जाननेवाला लिपिक- (आशुलिपिक)

अपनी इच्छा के अनुसार काम करनेवाला- (इच्छाचारी)

आड़ या परदे के लिये रथ या पालकी को ढकनेवाला कपड़ा- (ओहार)

अपनी विवाहित पत्नी से उत्पत्र (पुत्र)- (औरस (पुत्र)

अपने कर्तव्य का निर्णय न कर सकने वाला- (किंकर्तव्यविमूढ़)

अधिक दिनों तक जीने वाला- (चिरंजीवी)

अन्न को पचाने वाली जठर (पेट) की अग्नि- (जठराग्नि)

अपनी झक (धुन) में मस्त रहने वाला- (झक्की)

आँवला, हर्र व बहेड़ा- (त्रिफला)

अनुचित या बुरा आचरण करने वाला- (दुराचारी)

अपराध और उन पर दण्ड देने के नियम निर्धारित करने वाला प्रश्न – (दण्डसंहिता)

अभी-अभी जन्म लेने वाला- (नवजात)

आधे से अधिक लोगों की सम्मिलित एक राय- (बहुमत)

अपना हित चाहने वाला- (स्वार्थी)

अपनी इच्छा से दूसरों की सेवा करने वाला- (स्वयंसेवक)

अपने देश से प्यार करने वाला- (देशभक्त)

अपने देश के साथ विश्वासघात करने वाला- (देशद्रोही)

अनुचित बात के लिये आग्रह- (दुराग्रह)

आँख की बीमारी- (दृष्टिदोष)

अपने पति के प्रति अनन्य अनुराग रखने वाली- (पतिव्रता)

अपने पद से हटाया हुआ- (पदच्युत)

अपने को पंडित माननेवाला- (पंडितम्मन्य)

आटा पीसने वाली स्त्री-(पिसनहारी)

आँखों के समक्ष- (प्रत्यक्ष)

आय से अधिक व्यर्थ खर्च करने वाला- (फिजूलखर्ची)

आय-व्यय, लेन-देन का लेखा करने वाला- (लेखाकार)

अपने परिवार के साथ है जो- (सपरिवार)

अपने ही बल पर निर्भर रहने वाला- (स्वावलम्बी)

अविवाहित लड़की- (कुमारी)

अगहन और पूस में पड़ने वाली ऋतु- (हेमन्त)

अधः (नीचे) लिखा हुआ- (अधोलिखित)

आचार्य की पत्नी- (आचार्यानी)

अनुवाद करनेवाला- (अनुवादक)

अनुवाद किया हुआ- (अनूदित)

अनेक राष्ट्रों में आपस में होनेवाली बात- (अन्तर्राष्ट्रीय)

आत्मा या अपने आप पर विश्वास- (आत्मविश्वास)

आलस्य में जँभाई लेते हुए देह टूटना- (अँगड़ाई)

अंग पोंछने का वस्त्र- (अँगोछा)

अति सूक्ष्म परिमाण- (अणिमा)

आज के दिन से पूर्व का काल- (अनद्यतनभूत)

अध्ययन किया हुआ- (अधीत)

अनुभव प्राप्त- (अनुभवी)

असम्बद्ध विषय का- (अविवक्षित)

आठ पदवाला- (अष्टपदी)

अनुमान किया हुआ- (अनुमानित)

अनिश्चित जीविका- (आकाशवृत्ति)

आम का बगीचा- (अमराई)

अनुसंधान की इच्छा- (अनुसंधित्सा)

आकाश से तारे का टूटना- (उपप्लव)

अन्य देश का पुरुष- (उपही)

अँगुलियों में होनेवाला फोड़ा- (इकौता)

अपना नाम स्वयं लिखना- (हस्ताक्षर)

अपना मतलब साधनेवाला- (स्वार्थी)

अगस्त्य की पत्नी- (लोपामुद्रा)

अँधेरी रात- (तमिस्रा)

अशुभ विचार- (व्यापाद)

अंडों से निकली छोटी मछलियों का समूह- (पोताधान)

अस्तित्वहीन वस्तु का विश्लेषण- (काकदन्तपरीक्षण)

अधिक रोएँ वाला- (लोमश)

अमावस्या की रात- (कुहू)

( इ, ई )

ईश्वर में आस्था रखने वाला- (आस्तिक)

ईश्वर पर विश्वास न रखने वाला- (नास्तिक)

इतिहास का ज्ञाता- (अतिहासज्ञ)

इन्द्रियों को जीतनेवाला- (जितेन्द्रिय)

इन्द्रियों की पहुँच से बाहर- (अतीन्द्रिय)

इतिहास से सम्बन्ध रखने वाला- (ऐतिहासिक)

ईश्वर में विश्वास रखने वाला- (आस्तिक)

इन्द्रियों को वश में करने वाला- (इन्द्रियजित)

इंद्रियों पर किया जानेवाला वश- (इंद्रियाविग्रह)

इतिहास को जानने वाला- (इतिहासज्ञ)

इस लोक से सम्बन्धित- (ऐहिक)

इन्द्रजाल करने वाला- (ऐन्द्रजालिक)

इंद्रियों से संबंधित- (ऐंद्रिक)

इस लोक से संबंध रखनेवाला- (ऐहलौकिक)

ईश्वर या स्वर्ग का खजाँची- (कुबेर)

इस्लाम पर विश्वास न करनेवाला- (दौहित्र/नाती)

ईश्वर द्वारा भेजा गया दूत- (काफिर)

इन्द्रपुरी की वेश्य- (अमरांगना)

इन्द्र का महल- वैजयन्त

इतिहास से संबंधित- (ऐतिहासिक)

( ऊ )

ऊपर कहा हुआ- (उपर्युक्त)

ऊपर आने वाला श्वास- (उच्छवास)

ऊपर की ओर जानेवाला-(उर्ध्वगामी)

ऊपर की ओर बढ़ती हुई साँस- (उर्ध्वश्वास)

उपचार या ऊपरी दिखावे के रूप में होने वाला- (औपचारिक)

उच्च न्यायालय का न्यायाधीश- (न्यायमूर्ति)

उपकार के प्रति किया गया उपकार- (प्रत्युपकार)

ऊपर कहा हुआ- (उपर्युक्त)

ऊपर लिखा गया- (उपरिलिखित)

उतरती युवावस्था का- (अधेर)

उत्तर दिशा- (उदीची)

उच्च वर्ण के पुरुष के साथ निम्न वर्ण की स्त्री का विवाह- (अनुलोम विवाह)

उसी समय का- (तत्कालीन)

( ऐ )

एक ही समय में वर्तमान- (समसामयिक)

एक स्थान से दूसरे स्थान को हटाया हुआ- (स्थानान्तरित)

एक भाषा की लिखी हुई बात को दूसरी भाषा में लिखना या कहना- (अनुवाद)

ऐसा व्रत, जो मरने पर ही समाप्त हो-(आमरणव्रत)

ऐसा ग्रहण जिसमें सूर्य या चन्द्र का पूरा बिम्ब ढँक जाय- (खग्रास)

ऐसा जो अंदर से खाली हो- (खोखला)

ऐसा तर्क जो देखने पर ठीक प्रतीत होता हो, किन्तु वैसा न हो- (तर्काभास)

एक व्यक्ति द्वारा चलायी जाने वाली शासन प्रणाली- (तानाशाही)

एक राजनीतिक दल को छोड़कर दूसरे दल में शामिल होने वाला- (दलबदलू)

एक देश से माल दूसरे देश में जाने की क्रिया- (निर्यात)

ऐतिहासिक युग के पूर्व का- (प्रागैतिहासिक)

एक महीने में होने वाला- (मासिक)

एक ही जाति का- (सजातीय)

एक ही समय में उत्पन्न होने वाला- (समकालीन)

एक ही समय में वर्तमान- (समसामयिक)

ऐसी भूमि जो उपजाऊ नहीं हो- (ऊसर)

एक सप्ताह में होने वाला- (साप्ताहिक)

( क )

किसी पद का उम्मीदवार- (प्रत्याशी)

कीर्तिमान पुरुष- (यशस्वी

कम खर्च करने वाला- (मितव्ययी)

कम जानने वाला- (अल्पज्ञ)

कम बोलनेवाला- (मितभाषी)

कम अक्लवाला- (अल्पबुद्धि)

कठिनाई से समझने योग्य- (दुर्बोध)

कल्पना से परे हो- (कल्पनातीत)

किसी की हँसी उड़ाना- (उपहास)

कुछ दिनों तक बने रहने वाला- (टिकाऊ)

किसी बात को बढ़ा-चढ़ाकर कहना- (अतिशयोक्ति)

कठिनता से प्राप्त होने वाला- (दुर्लभ)

किसी पद का उम्मीदवार- (प्रत्याशी)

किसी विषय को विशेषरूप से जाननेवाला- (विशेषज्ञ)

किसी काम में दूसरे से बढ़ने की इच्छा या उद्योग- (स्पर्द्धा)

क्रम के अनुसार- (यथाक्रम)

कार्य करनेवाला- (कार्यकर्त्ता)

करने योग्य- (करणीय, कर्तव्य)

किसी कथा के अंतर्गत आने वाली दूसरी कथा- (अन्तःकथा)

कर या शुल्क का वह अंश जो किसी कारणवश अधिक से अधिक लिया जाता है- (अधिभार)

किसी पक्ष का समर्थन करने वाला- (अधिवक्ता)

किसी कार्यालय या विभाग का वह अधिकारी जो अपने अधीन कार्य करने वाले कर्मचारियों की निगरानी रखे- (अधीक्षक)

किसी सभा, संस्था का प्रधान- (अध्यक्ष)

किसी कार्य के लिए दी जाने वाली सहायता- (अनुदान)

किसी मत या प्रस्ताव का समर्थन करने की क्रिया- (अनुमोदन)

किसी व्यक्ति या सिद्धान्त का समर्थन करने वाला- (अनुयायी)

किसी कार्य को बार-बार करना- (अभ्यास)

किसी वस्तु का भीतरी भाग- (अभ्यन्तर)

किसी वस्तु को प्राप्त करने की तीव्र इच्छा- (अभीप्सा)

किसी प्राणी को न मारना- (अहिंसा)

किसी बात पर बार-बार जोर देना- (आग्रह)

किसी पात्र आदि के अन्दर का स्थान, जिसमें कोई चीज आ सके-(आयतन)

किसी अवधि से संबंध रखने वाला- (आवधिक)

किसी देश के वे निवासी जो पहले से वहाँ रहते रहे हैं- (आदिवासी)

किसी चीज या बात की इच्छा रखनेवाला- (इच्छुक)

किन्हीं घटनाओं का कालक्रम से किया गया वृत- (इतिवृत)

किसी नई चीज का बनाना- (ईजाद, अविष्कार)

किसी के बाद उसकी संपत्ति प्राप्त करने वाला- (उत्तराधिकारी)

किसी एक पक्ष से संबंधित- (एकपक्षीय)

कष्टों या काँटों से भरा हुआ- (कंटकाकीर्ण)

किसी के उपकार को न मानने वाला- (कृतघ्न)

किसी की कृपा से पूरी तरह संतुष्ट- (कृतार्थ)

कारागार से संबंध रखने वाला- (कारागारिक)

कार्य करने वाला व्यक्ति- (कार्यकर्ता)

किन्हीं निश्चित कार्यों के लिए बनायी गयी समिति- (कार्यसमिति)

क्रम के अनुसार- (क्रमानुसार)

किसी विचार/निर्णय को कार्यरूप देना- (कार्यान्वयन)

कुंती का पुत्र- (कौंतेय)

किसी के घर की होनेवाली तलाशी- (खानातलाशी)

किसी के इर्द-गिर्द घेरा डालने की क्रिया- (घेराबन्दी)

करुण स्वर में चिल्लाना- (चीत्कार)

किसी को सावधान करने के लिए कही जाने वाली बात- (चेतावनी)

किसी वस्तु का चौथा भाग- (चतुर्थाश)

किसी काम या व्यक्ति में छिद्र या दोष निकालने का कार्य- (छिद्रान्वेषण)

कर्मचारियों आदि को छाँटकर निकालने की क्रिया- (छँटनी)

किसी भी बात को जानने की इच्छा- (जिज्ञासा)

कुछ जानने या ज्ञान प्राप्त करने की चाह- (जिज्ञासा)

किसी के सम्पूर्ण जीवन के कार्यों का विवरण- (जीवनचरित)

काँटेदार झाड़ियों का समूह- (झाड़झंखाड़)

किसी ग्रंथ या रचना की टीका करनेवाला- (टीकाकार)

किराए पर चलनेवाली मोटर गाड़ी- (टैक्सी)

किसी पद अथवा सेवा से मुक्ति का पत्र- (त्यागपत्र)

किसी भी पक्ष का समर्थन न करने वाला- (तटस्थ)

कोई काम या पद छोड़ देने के लिये लिखा गया पत्र- (त्यागपत्र)

कुछ निश्चित लम्बाई का कपड़ा- (थान)

किसी के पास रखी हुई दूसरे की वस्तु- (थाती/धरोहर/अमानत)

कपड़ा साइन का व्यवसाय करने वाला- (दर्जी)

किसी के साथ सम्बन्ध न रखने वाला- (निःसंग)

कही हुई बात को बार-बार कहना- (पिष्टपेषण)

किसी आरोप के उत्तर में किया जाने वाला आरोप- (प्रत्यारोप)

किसी टूटी-फूटी वस्तु का पुनर्निर्माण- (पुनर्निर्माण)

किसी देवता पर चढ़ाने के लिए मारा जाने वाला पशु- (बलि)

(किसी पद पर) जो पहले रहा हो- (भूतपूर्व)

किसी बात का गूढ़ रहस्य जानने वाला- (मर्मज्ञ)

किसी मत को मानने वाला- (मतानुयायी)

कम खर्च करने वाला- (मितव्ययी)

क्रम के अनुसार- (यथाक्रम)

किसी विषय को विशेष रूप से जाननेवाला- (विशेषज्ञ)

कुबेर की नगरी- (अलकापुरी)

किसी छोटे से प्रसन्न हो उसका उपकार करना- (अनुग्रह)

किसी के दुःख से दुःखी होकर उसपर दया करना- (अनुकम्पा)

किसी श्रेष्ठ का मान या स्वागत- (अभिनन्दन)

किसी विशेष वस्तु की हार्दिक इच्छा- (अभिलापा)

किसी के शरीर की रक्षा करनेवाला- (अंगरक्षक)

किसी को भय से बचाने का वचन देना- (अभयदान)

केवल फल खाकर रहनेवाला- (फलाहारी)

किसी कलाकार की कलापूर्ण रचना- (कलाकृति)

करने की इच्छा- (चिकीर्षा)

कुबेर का बगीचा- (चैत्ररथ)

कुबेर का पुत्र- (नलकूबर)

कुबेर का विमान- (पुष्पक)

कच्चे मांस की गंध- (विस्र)

कमल के समान गहरा लाल रंग- (शोण)

काला पीला मिला रंग- (कपिश)

केंचुए की स्त्री- (शिली)

कुएँ की जगत- (वीनाह)

किसी के पास रखी हुई दूसरे की सम्पत्ति-(थाती/न्यास)

केवल वर्षा पर निर्भर- (बारानी)

कलम की कमाई खानेवाला- (मसिजीवी)

कुएँ के मेढ़क के समान संकीर्ण बुद्धिवाला- (कूपमंडुक)

काला पानी की सजा पाया कैदी- (दामुल कैदी)

किसी काम में दखल देना- (हस्तक्षेप)

कुसंगति के कारण चरित्र पर दोष- (कलंक)

कुछ खास शर्तों द्वारा कोई कार्य कराने का समझौता (संविदा)