निपात (अवधारक)
किसी भी बात पर अतिरिक्त भार देने के लिए जिन शब्दों का प्रयोग किया जाता है उसे निपात (अवधारक) कहते है।
जैसे :- भी , तो , तक , केवल , ही , मात्र आदि

निपात
तुम्हें आज रात रुकना ही पड़ेगा।
तुमने तो हद कर दी।
कल मै भी आपके साथ चलूँगा।
गांधीजी को बच्चे तक जानते है।
धन कमा लेने मात्र से जीवन सफल नहीं हो जाता।

नीरव खाने के साथ पानी भी पिता था।
आप केवल हिंदी गाने ही क्यों पसंद करते हो?
में कल तक इंतजार नहीं कर सकता।
में तो मात्र पापा के कपडे ही लाया था