1. खाना बनाने के बर्तानों के नीचें का बाहरी हिस्सा काला क्यों छोड़ा जाता है- काली सतह ऊष्मा की अच्छी अवशोषक होती हैं।
  2. गैस तापमापी, द्रव तापमापियों की तूलना में ज्यादा संवेदी होते हैं, क्योंकि- गैस का प्रसार गुणांक अधिक होता हैं।
  3. एक श्वेत तथा चिकनी सतह कैसी होती हैं- ताप की खराब अवशोषक तथा अच्छी परावर्तक
    254.सेंटीग्रेट तथा फाॅरनहाइट तापमान किस अंश पर एक समान होते हैं- -400
  4. बिजली के हीटर में कौन सामग्री प्रयुक्त होती है- निक्रोम
  5. ट्रांसफाॅर्मर किसे परिवर्तित करने की युक्ति है- कम वोल्टेज ए.सी. को उच्च वोल्टेज ए.सी. में
  6. ‘हिग्स बोसाॅन’ शब्द का संबंध किससे है- गाॅड पार्टिकल
  7. यदि विद्युत प्रतिरोध कम करना हो, तो प्रतिरोधकों की संख्या को किससे जोडना चाहिए- समांतर
  8. कौन सी विद्युत-चुंबकीय तरंग नही है- कैथाड-रे
  9. हीरा विद्युत प्रवाहित नहीं करता है, क्योकि- इसमें कोई स्वतंत्र इलेक्ट्राॅन नहीं होता है
  10. इलेक्ट्राॅन का एंटी-पार्टिकल क्या है- पाॅजिट्राॅन
  11. धारा वाहक चालक किससे संबद्ध होता है- विद्युत-चुम्बकीय क्षेत्र
  12. परमाणु प्रस्फोटन किससे द्वारा प्रेरित होता है- अनियंत्रित श्रृंख्ला अभिक्रिया
  13. X – किरणों के उत्सर्जन का प्रतिकूल प्रभाव क्या है- प्रकाश- वैद्युत प्रभाव
  14. सौर सेलों के जिस समूह को एक निश्चित पैटर्न में साथ जोड दिया जाता है उसे क्या कहते है- सौर सेल पैनल
  15. ट्यूबलाइट के साथ प्रयुक्त ‘चोक’ मूलतः क्या है- प्रेरक
  16. ट्रांजिस्टर के किसमें होने की अधिकाशंतः संभावना होती है- श्रव्य उपकरण
  17. गैल्वनोमीटर को किसके साथ जोडकर उसे वोल्टमीटर बनाया जा सकता है- श्रृखला में उच्च प्रतिरोध
  18. फ्लेमिंग का ‘वाम हस्त नियम’ किससे संबंधित हैं- धारा पर चुंबकीय क्षेत्र
  19. देहली-आवृति कैसी आवृति है- जिसके नीचे प्रकाश वैद्युत उत्सर्जन संभव नहीं होता।
  20. सुपर कंडक्टर ऐसे पदार्थ होते है- जो विद्युत करंट के प्रवाह को न्यूनतम रोधिता देते है।
  21. एक चालक में- संयोजकता बैंड और चालन बैंड एक-दूसरे पर अतिव्यापित करते है।
  22. कुछ पदार्थो का अति निम्न तापमान पर विद्युत प्रतिरोध पूर्णतया समाप्त हो जाता है। इन पदार्थो को क्या कहा जाता है- अतिचालक
  23. डायनेमो इसे परिवर्तित करता है- यांत्रिक ऊर्जा को विद्यु त ऊर्जा में
  24. एक फ्यूज की तार को इन लक्षणोें के कारण पहचान जाता है- न्यूनतम प्रतिरोधकता तथा न्यूनतम गलनांक