भारतीय दंड संहिता. 1860(1860 का अधिनियम सं. 45)विषय-सूचीधारा विषयअध्याय-1प्रारंभभकअध्याय 1प्रस्तािना1.संहिता का िाम और उसके प्रवतति का ववस्तार2.भारत के भीतर ककए गए अपरािों का दंड3.भारतसेपरेककएगएककन्तुउसकेभीतरववधिकेअिुसारववचारणीय अपरािों का दंड 4.राज्यक्षेत्रातीयअपरािों पर संहिता का ववस्तार5.कुछववधियोंपरइसअधिनियमद्वाराप्रभाविडालाजािा